icons FACEBOOK TWITTER YOUTUBE contact
|| श्री सुरभ्यै नमः || आदरणीय गऊभक्त प्रत्येक माह की अमावस्या को आयोजित 8500 गऊवंश की पालकी परिक्रमा पर दिनाँक 26 नवम्बर 2019 मंगलवार सुबह 08:30 से 11:00 बजे तक आप सभी सहपरिवार सादर आमंत्रित हैं. श्री कृष्ण गऊशाला परिवार | संपर्क सूत्र: +91-8527632944

वैज्ञानिक महत्व

  • गाय धरती पर एकमात्र ऐसा प्राणी है जो आक्सीजन ग्रहण करता है. साथ ही आक्सीजन ही छोड़ता है.
  • गाय के मूत्र में पोटैशियम, सोडियम, नाइट्रोजन, फॉस्फेट, यूरिया एवं यूरिक एसिड होता है.
  • गाय के दूध में रेडियो विकिरण से रक्षा करने की सबसे ज्यादा शक्ति होती है !
  • गाय का दूध दिल की बीमारी से बचाता है |
  • गाय का दूध यादाश्त को बढ़ाता है |
  • गाय के गोबर में हैजे के कीटाणु को नष्ट करने की शक्ति है |
  • गाय के गोबर की गंध से अन्य रोग के कीटाणु मर जाते है |
  • एक गाय के एक तोला घी से यज्ञ करने से एक टन ऑक्सीजन बनती है |
  • गाय के दूध में केरोटीन पदार्थ से आँखों की रोशनी बढती है|
  • गोबर दाद, खाज और घाव में लाभदायक होता है|
  • सिर्फ एक गाय के गोबर से हार साल 45000 लीटर बायोगैस मिलती है |
  • दूध देते समय गाय के मूत्र में लैक्टोस की वृद्धि होती है, जो हृदय रोगों के लिए लाभकारी है.
  • गऊ माता का दूध चिकनाई रहित परन्तु शक्तिशाली होता है. उसे कितना भी पीने से मोटापा नहीं बढ़ता तथा स्त्रियों के प्रदर रोग में भी लाभदायक होता है.
  • गऊ माता के गोबर के उपले जलने से मक्खी मछर आदि कीटाणु नहीं होते तथा दुर्गन्ध का भी नाश होता है.
  • गऊ-मूत्र सुबह खाली पेट पीने से कैंसर ठीक हो जाता है.
  • गऊमाता के गोबर में विटामिन बी-12 प्रचुर मात्रा में होता है, यह रेडियोधर्मिता को सोख लेता है.
  • गऊ-माता के शारीर पर प्रतिदिन 15-20 मिनट हाथ फेरने से ब्लड प्रेशर जैसी बीमारी एकदम ठीक हो जाती है.
  • गऊ-माता के शरीर से निकलने वाली सात्विक तरंगे आस-पास के वायुमंडल को प्रदूषण रहित बनाती है.
  • गऊ-माता के शारीर से प्राकृतिक रूप से गूगल की गंध निकलती है.
  • गऊ या उसके बछड़े के रंभाने से निकलने वाली आवाज़ मंदिक विकृतियों तथा रोगों को नष्ट करती है.
  • इन सभी तथ्यों की पुष्टि जर्मन के कृषि वैज्ञानिक डॉ. जुलिशुस एवं डॉ. बुक द्वारा की जा चुकी है
  • अमरीकन वैज्ञानिक जेम्स मार्टिन के अनुसार गाय का गोबर एवं खमीर को समुद्र के पानी के साथ मिला कर ऐसा केमिकल बनाया जो बंजर भूमि को हरा-भरा कर देता है. सूखे तेल के कुए में फिर से तेल आ जाता है.
  • भारत में गायों की संख्या 7 करोड़ 64 लाख है जो रोजाना 14 करोड़ टन दूध देती है|
  • इटली के वैज्ञानिक प्रो. जे ई बिग्रेड ने गाय के गोबर से अनेक प्रयोग करके यह सिद्ध किया कि गाय के गोबर से अनेक असाध्य बीमारियाँ ठीक हो जाती है|

© 2016 : All Rights Are Reserved | Shri Krishna Gaushala                                                   Powered by Drona Infotech